October 16, 2021

DR NAGENDER YADAV

INDIA FIRST VET YOUTUBER

कॉकटेल पक्षी की Breeding कैसे करवाते हैं ? क्या क्या सावधानिया रखनी चाहिए –

पक्षियों की ब्रीडिंग करवाते समय हमे पक्षियों की आयु और उनके स्वास्थ की जांच अवश्य करवा लेनी चाहिए नर मादा पक्षी का डीएनए जांच करवा लेनी चाहिए . पक्षियों में ब्रीडिंग करवाते समय इस बात का ध्यान रखे की पक्षी INBREED न हो . पक्षी के पिंजरे का वातावरण और उसका आकार पक्षी के आकार के अनुसार ही होना चाहिए .

नर और मादा पक्षी का चुनाव कैसे करे –

नर और मादा पक्षी की आयु 18 महीने से कम नही होनी चाहिए यदि हम इस से कम उम्र की मादा का चुनाव करते हैं तो उसमे काफी दिक्कते आ सकती हैं जैसे मादा के गर्भाशय में अंडे का अटकना कम उम्र की मादा अपने बच्चे का सही ढंग से पालन पोषण नही कर सकती . पक्षियों के चुनाव में BREED वाले पक्षियों को ना चुने क्योकि इनसे होने वाले बच्चे कमजोर व उनके शरीर में विकलांगता जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं .

ब्रीडिंग के लिए मुख्य सावधानिया –

पक्षी का ब्रीडिंग के लिए चुनाव करने के बाद उसके स्वास्थ की जांच के लिए चिकित्सक को दिखाए . चिकिस्तक पक्षी की जांच करके उसके वजन के बारे में उसकी शारीरिक अवस्था के बारे में आपको सम्पूर्ण जानकारी दे सकता हैं . ज्यादा वजन वाले पक्षी का चुनाव ना करे क्योकि पक्षी नपुंसकता हो सकती हैं और मादा पक्षी में वजन ज्यादा होने के कारण अंडा अटकने की सम्भावना बढ़ जाती हैं . स्वस्थ नर और मादा पक्षी का चुनाव करने के बाद आप उसके पिंजरे में रौशनी की अच्छी व्यस्व्स्था करे . कोकटेल पक्षी पुरे साल प्रजनन करते हैं लेकिन हम 10 से 12 घंटे रौशनी की व्यस्व्स्था करते हैं तो उस अवस्था में ब्रीडिंग की सफलता की दर बढ़ जाती हैं . पक्षियों के भोजन में संतुलित भोजन दे खाने में दानो के साथ साथ सॉफ्ट फ़ूड उबले हुए चावल या ब्रेड या अनुकुरित भोजन भी दे . केल्सियम की मात्रा और ताजे पानी की उचित व्यस्व्स्था होनी चाहिए .

पक्षी के पिंजरे का आकार –

ब्रीडिंग वालो पक्षियों को हमेशा बड़े पिंजरे में रखना चाहिए जिसका आकार 6 फिट लम्बा और 3 फुट चोडाई व 3 फिट गहराई होनी चाहिए . जोड़ा बन जाने के बाद कोकटेल पक्षी को दुसरे पिंजरे में रख दे जिसमे ब्रीडिंग बॉक्स रखे हुए हो . ब्रीडिंग बॉक्स प्लास्टिक लकड़ी या धातु के बने होते हैं . लकड़ी का पिंजरा कोकटेल पक्षी को ज्यादा पसंद आता हैं . ब्रीडिंग बॉक्स का साइज़ एक फिट लम्बा और एक फिट चोडा होना चाहिए . बॉक्स में बिछाने के लिए लकड़ी के छिलके और पुराने अखबार की रद्दी का इस्तेमाल करे .

ब्रीडिंग की प्रकिर्या –

नर पक्षी अपना घोसला तैयार करता हैं नर और मादा पक्षी के मिलने के दो सप्ताह बाद मादा अंडे देती हैं नर और मादा बारी बारी से अन्डो को सेते है . एक बार में मादा 2 से 8 अंडे देती हैं . नर और मादा दोनों अपने शरीर के नीचे वाले हिस्से से अपने पंखो को उखाड़ लेते हैं ताकि अन्डो पर बैठने से उनके शरीर से अन्डो को गर्मी बराबर मिलती रहे . तीन सप्ताह बाद अन्डो में से बच्चे निकल जाते हैं . नर मादा के लिए भोजन की व्यवस्था करता हैं . बच्चे अन्डो से निकलने के बाद 8 से 10 सप्ताह तक बच्चो को नर मादा से अलग ना करे जब बच्चे घोसले से बाहर आ जाए तो ब्रेडिंग बॉक्स को हटा दे और पिंजरे में रौशनी कम कर दे जिससे नार मादा दोबारा मेंटिंग ना करे . बच्चो की परवरिश अच्छे से कर सके यदि किसी कारणवश नर मादा अपने बच्चो को खाना खिलाते हैं तो इस अवस्था में अपने हाथो से बच्चो को खाना खिलाये .